शनिवार, 6 फ़रवरी 2016

नौजवान उठ करवट बदले तो इतिहास बदल सकता है

Edit Posted by with No comments

नौजवान उठ करवट बदलेतो इतिहास बदल सकता है ।


 नौजवान उठ करवट बदले तो इतिहास बदल सकता है ।

 केवल भुजा उठाने से युग का विश्वास बदल सकता है ।।

 तेरी आशाओं में जग की आश जगती है और सोती है ।

 एक साथ साँस सभी लो तो आकाश बदल सकता है ।।

वो ऊपर वाले के बन्दे

Edit Posted by with No comments

वो ऊपर वाले के मगरूर बन्दे


 वो ऊपर वाले के मगरूर बन्दे ।

 क्या धर्म भी सिखाता है काम गन्दे ।।

 धर्म के नाम पर पूरी दुनिया में रक्त पात ।

 मचाना कौन सा धर्म सिखाता है ।।

उस कलंकी फूल का मत नाम लो

Edit Posted by with No comments

उस कलंकी फूल का मत नाम लो 


 उस कलंकी फूल का मत नाम लो ।


 जो इतरा रहा हो ताज पर ।।


सौ गुणा उसे सुगढ़ वह सूल जो ।


 जो दे रहा पहरा कली की लाज पर ।।

रहजन कभी थे आजकल रहजन होने लगे

Edit Posted by with No comments

रहबर कभी थे आजकल रहजन होने लगे

 रहबर कभी थे आजकल रहजन होने लगे ।

 मूल्य सारे क्यों इस तरह खोने लगे ।। 

स्वार्थ की आग में जल गई इंसानियत ।

 दुश्मन की कौन पूछे दोस्त से डर लगने लगे ।। 

ज़मी पर था कभी अब आसमां को चूमता ।

 उसको इंसानियत का पाठ अब बेईमानी लगने लगे ।।

 आपने देखा अपना आज का ये हिंदुस्तान ।

 हर तरफ मुफ्लिसियों काम के केले लगे ।

 कोई मालामाल हो रहा ख्वाब गांधी का तो अब फानी लगे ।।